GST New Update 2022: 143 वस्तुओं के बढ़ सकते हैं दाम, GST काउंसिल कर रही है विचार

GST New Update 2022: महामारी के बाद से दुनिया भर में कई देशों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है, श्री लंका में इस समय महंगाई चरम सीमा पर है, वही अगर हम बात करें भारत की तो अब खबर मिल रही है कि जीएसटी काउंसिल जल्द ही 143 चीजों मैं टैक्स बढ़ा सकती है, भारत के 5 राज्य में चुनावी दौर खत्म होने के बाद महंगाई अपने पीक पर है, फल, सब्जी, दूध, पेट्रोल, डीजल सभी चीजों में टैक्स ज्यादा देना पड़ रहा है आम जनता को, लेकिन अब एक बड़ी खबर सामने आ रही है कि जीएसटी परिषद जल्द ही 143 चीजों में टैक्स रेट बढ़ा सकती है, महामारी के बाद से ही आम आदमी पर महंगाई की मार पड़ रही है ऐसे में यह खबर चिंताजनक है आम लोगों के लिए, खबर के मुताबिक जीएसटी काउंसिल ने राज्य से चीजों की दाम बढ़ाने के लिए विचार मांगे हैं, अब अगर राज्य सरकार की जीएसटी काउंसिल राजी होता है तो चीजों में दाम की बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है, खबरों के मुताबिक कुछ चीजों में 18% जीएसटी से 28% जीएसटी तक कर दिया जा सकता है, महंगाई कि यह खबर आम जनता में चिंता की बात हो गई है, क्यों की देश में इनफ्लेशन रेट बड़ता जा रहा है, खबरों के मुताबिक जीएसटी काउंसिल ‌ से परामर्श मांगे हैं, वस्तु की दरों में बड़ोती करने पर सरकार की रेवेन्यू जेनरेट होगी और बाकी राज्यों को भी केंद्र पर निर्भर नहीं करना पड़ेगा जरूरी मुआवजे के लिए, चलिए जानते है इस खबर के बारे में नीचे विस्तार से और किन किन चीजों में दाम बढ़ने की आशंका है। 

Join Telegram

वर्तमान में 92% बस्तुए 18% टैक्स स्लैब में आती है

देश की जीएसटी काउंसिल ने करीब 143 आवश्यक वस्तुओं की दरों में दाम बढ़ोतरी पर सोच रही है, खबरों के मुताबिक जिन 143 चीजों की जीएसटी टैक्स में बढ़ोतरी करने जा रही है जीएसटी काउंसिल उनमें से ज्यादातर चीजें 18% टैक्स स्लैब में आती है, अब उन्हें 18% से 28% तक लाया जा सकता है, बता दे इनमे से 92% वस्तु 18% टैक्स स्लैब में आती है अब इन्हे 28 प्रतिशत टैक्स स्लैब में डाल दिया जा सकता है, यह महंगाई वाकई में आम जनता पर भारी पड़ सकती है, वर्तमान में देश की आर्थिक स्थिति नाजुक है महामारी के बाद देश में इनफ्लेशन (Inflation) कई हद तक बढ़ चुकी है। 

रूस यूक्रेन की युद्ध के वजह से दुनिया भर में कई चीजों में बाधा आ रही है और इस चीज के वजह से शेयर मार्केट भी डाउन है, लेकिन अब ताजा खबरों की मानें तो मोदी सरकार कुछ वस्तुओं के दरों में बढ़ोतरी कर सकती है, ताकि सरकार को रेवेन्यू जेनरेट हो सके और सरकार जन कल्याण के काम को जारी रख सके, इंडियन एक्सप्रेस के रिपोर्ट के मुताबिक 92 प्रतिशत ऐसे वस्तु है जिनमे टैक्स की रेट को बढ़ा कर 28% कर दिया जा सकता है और GST Council इस बारे में राज्य से परामर्श मांगी है, जैसे ही राज्य सरकार से सहमत मिलती है इन 143 बस्तुओ के दामों में आपको बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। पिछले कुछ दिनों से पेट्रोल और डीजल सहित सीएनजी, पीएनजी के दाम में बढ़ोतरी की वजह से लोगों में काफी नाराजगी देखने को मिली है, पेट्रोल और डीजल के दाम के बढ़ने के बाद देशभर में नींबू के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिली है वहीं सब्जियों के दामों में भी तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली है, ‌अब ये खबर आम जनता के बीच नई चिंता की विषय बन गई है। 

इन चीजों के दामों में हो सकती है बढ़ोतरी 

सूत्र के मुताबिक जिन वस्तुओं में जीएसटी की दरें बढ़ाई जा सकती है उनमें से गुड़, पापड, चॉकलेट, कस्टर्ड पाउडर, च्युइंग गम (chewing gum), अखरोट जैसी खाद्य वस्तुएं शामिल हैं, इसके अलावा घड़ियां, सूटकेस, परफ्यूम या डिओडेरेंट्स, हैंडबैग, पावर बैंक (Power Bank), कलरिंग टीवी(all colour tv item under 32 inch), सिरेमिक सिंक, वॉश बेसिन, चश्मे के फ्रेम, गोगल्स ( Sunglasses), नॉन-अल्कोहलिक बेवरेजेज, बिजली के उपकरण, प्लाईवुड, डटोल साबुन, दरवाजे, खिड़किया तथा चमड़े का बनाया हुआ सामान और परिधान आदि शामिल है, फिलहाल गुड़ और पापड़ में टैक्स नहीं लगता है लेकिन अब सरकार गुड और पापड़ में टैक्स लगाने वाली है और इसे 5% के टैक्स स्लैब में डाला जा सकता है, बता दे अखरोट को 5% से हटाकर अब 12% तक बढ़ा दिया जा सकता है इसके अलावा कस्टर्ड पाउडर को 5% के टैक्स स्लैब से हटाकर 18% तक किया जा सकता है, फिलहाल इसकी कोई पक्की जानकारी नहीं मिली है मगर कहा यह जा रहा है कि सरकार इस बारे में सोच विचार कर रही है और वस्तुओं के दरों में बढ़ोतरी की जा सकती है जल्द ही। 

अगले महीने जीएसटी काउंसिल की बैठक 

सूत्रों की माने तो जीएसटी (GST) काउंसिल की बैठक अगले महीने हो सकती है, इस बैठक में कई बड़े निर्णय लिया जा सकते हैं और 5% के दायरे में जो भी चीजें आती है उनकी दरों में वृद्धि की जा सकती है, देखा जाए तो आने वाले समय आम जनता के लिए काफी कठिन होने वाले हैं और एक बार फिर आम जनता पर महंगाई की मार पड़ने वाली है। 

वर्तमान में 4 स्तर में जीएसटी कलेक्शन किया जा रहा है 

देशभर में वर्तमान में चार स्तर पर जीएसटी कलेक्शन की जाती है इनमें से 5%, 12%, 18% और 28% के दरों में चीजों पर जीएसटी लागू की गई है, वर्तमान में जरूरी चीजों पर सरकार की ओर से कम टैक्स लिया जा रहा या फिर छूट दी जाती है, इसके अलावा अनावश्यक चीजों में 28% तक का टैक्स लगा हुआ है, आपको बता दें ऐसे 480 आइटम्स है जो 18% टैक्स स्लैब के नीचे आते हैं, जिनमे से सरकार को सबसे ज्यादा ( 70% revenue comes to Govt) टैक्स मिलता है, इसके अलावा ऐसे कई वस्तु है जिनमें टैक्स की छूट दी गई है सरकार की ओर से, अगर आने वाले दिनों में वस्तुओं में सरकार अपनी दरों को बढ़ाती है तो यह आम जनता के लिए चिंता की विषय होगी क्योंकि वर्तमान में देश में इलेक्शन काफी ज्यादा बढ़ गई है। 

Leave a Comment